Dharam Patni Ho Lyrics Khesari Lal Yadav

0

Dharam Patni Ho Lyrics Khesari Lal Yadav. Aamdani Bate Thap Rakh Atani Ho Kahe Baat Na Bujhelu Ho Dharam Patni Ho New Bhojpuri Navratri Song By Khesari Lal Yadav & Priyanka Singh. Lyrics Written By Ashutosh Tiwari & Music By Chhotu Rawat.

Dharam Patni Ho Lyrics
करब का पिया बोलs रूपया कमाई के
पूजा में ना खर्चा जे होई देवी माई के

करब का पिया बोलs रूपया कमाई के
पूजा में ना खर्चा जे होई देवी माई के
एके बात हम कई बेरी रटनी हो रटनी हो
आमदनी बाटे ठप राखs अतनी हो
काहे बात ना बुझेलु धर्मपत्नी हो
मेला जाईल चाह ताडू हऊ चटनी हो
काहे बात ना बुझेलु धर्मपत्नी हो

नव चुनरी पूजा के सामग्री
सब जा तानी कीने हो
नव कन्या कुंवारी खिआवे
के बा नवमी के दिने हो
काम थोडा में सिखs चलावे के
कुछ क दs कटौती हो
नवरात्र में ऐ धनि अगिला
पूरा करिहs मनौती हो

चीज कईगो पहिलही तs छटनी हो छटनी हो
खिसिआलू काहे धनि पचरतनी हो
मजबूरी तनी बुझs धर्मपत्नी हो
खाइल चाह तारु छोला हऊ चटनी हो
काहे बात ना बुझेलु धर्मपत्नी हो

सब मईया के दिहल ह राजा
इन्ही में कंजूसी हो
देखs मनिहे ना केतनो मनवले
जदी जईहे इ रुसी हो
लागे चली नाही कवनो चारा
धर्म संकट में पडले खेसारी
कहाँ बाडs ऐ आँसू तिवारी
कुछ पईसा दs तुही उधारी

कईसे मान गईलs तनिका जे डटनी हो डटनी हो
आमदनी बाटे ठप राखs अतनी हो
काहे बात ना बुझेलु धर्मपत्नी हो
मेला जाईल चाह ताडू हऊ चटनी हो
काहे बात ना बुझेलु धर्मपत्नी हो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here