Naihar Ke Dusuti Lyrics Pramod Premi Yadav

0

Naihar Ke Dusuti Lyrics Pramod Premi Yadav. Ae Raja Ho Naihar Ke Dusuti Hamar Mail Ka Dihla Is Bhojpuri Dance Song By Pramod Premi Yadav. Lyrics Written By Arun Bihari While Music By Shankar Singh.

Naihar Ke Dusuti Lyrics
छोड़ के पढाई कईनी दिन भर कढाई
देखली त भऊजी बड़ी कईली बड़ाई
छोड़ के पढाई कईनी दिन भर कढाई
देखली त भऊजी बड़ी कईली बड़ाई

सब हमार माटी कईल धईल क दिहल
सब हमार माटी कईल धईल क दिहल
ऐ सईया हो नईहर के दुसुती
हमार मईल क दिहल
ऐ राजा हो नईहर के दुसुती
हमार मईल क दिहल

टयूसन के पईसा से बचाके रही हम किनले
सखी से सिख के रही नु हम बिनले
टयूसन के पईसा से बचाके रही हम किनले
सखी से सिख के रही नु हम बिनले

सब मेहनत कईल के बे कईल क दिहल
एहो सब मेहनत कईल के बे कईल क दिहल
ऐ सईया हो नईहर के दुसुती
हमार मईल क दिहल
ऐ रजऊ नईहर के दुसुती
हमार मईल क दिहल

ढेर दिन से भईले रही सेंट मार के
तकिया लगईनी बिछईनी बीएड झार के
ढेर दिन से भईले रही सेंट मार के
तकिया लगईनी बिछईनी बीएड झार के

अरुण बिहारी चादर फईल क दिहल
शंकर प्रमोद चादर फईल क दिहल
ऐ पियऊ नईहर के दुसुती
हमार मईल क दिहल
ऐ रजऊ नईहर के दुसुती
हमार मईल क दिहल

छोड़ के पढाई कईनी दिन भर कढाई
देखली त भऊजी बड़ी कईली बड़ाई

सब हमार माटी कईल धईल क दिहल
सब हमार माटी कईल धईल क दिहल
ऐ सईया हो नईहर के दुसुती
हमार मईल क दिहल
ऐ राजा हो नईहर के दुसुती
हमार मईल क दिहल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here