पूजा के थाली ले अईहें आम्रपाली Lyrics Ajeet Anand

0

पूजा के थाली ले अईहें आम्रपाली Lyrics Ajeet Anand.
देवलोक से आवतारी मईया हमार जी
बोली ऐ बलम कईसे होई श्रृंगार जी

देवलोक से आवतारी मईया हमार जी
बोली ऐ बलम कईसे होई श्रृंगार जी
आ बोली कईसे के मईया मोर पुजईहे

पूजवा के थाली आम्रपाली जी लेअईहे
अंखिया में काजर राघवानी जी लगईहे
राघवानी जी लगईहे, राघवानी जी लगईहे
रची रची मईया के मूर्ति सजईहे
एजी मूर्ति सजईहे जी मूर्ति सजईहे

के लाइ अक्षत रोरी
के बहारी दुअरिया
मईया के ओढ़े खातिर
के ले आई चुनरिया

अक्षरा जी अक्षत रोरी ले अईहे
ऋतू जी माई के चुनरिया ओढ़ईहे
सईया मईया के भजन बोली के गईहे

ढोलवा नगाड़ा लेके अंतरा जी अईहे
अजीत आनंद भजनिया सुनईहे
एजी खूब नचईहे जी गर्दा उड़ईहे
रची रची मईया के मूर्ति सजईहे
एजी मूर्ति सजईहे जी मूर्ति सजईहे

के लाइ उड़हुल हारवा
के करी श्रृंगारवा
के चढ़ाई गईया के दूधवा
के गिराई धारवा

शुभी शर्मा जी
माई के सजईहे
गाय के गोबर
मधु जी लेअईहे

पाठ बाचे अखिलेश जी कब अईहे
धरती मईया रानी स्वर्ग आज बनईहे
धीरे धीरे सबका अंगनवा में जईहे
अंगनवा में जईहे अंगनवा में जईहे
चांदनी अनिषा जी ठुमका लगईहे
ठुमका लगईहे जी ठुमका लगईहे
रची रची मईया के मूर्ति सजईहे
एजी मूर्ति सजईहे जी मूर्ति सजईहे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here